My Name on Mars

Tuesday, December 27, 2016

चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या पर कार्यशाला Scientific Explanation of Miracle Workshop

चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या पर कार्यशाला Scientific Explanation of Miracle Workshop
चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या पर पांच दिवसीय कार्यशाला सोमवार से
स्वामी विवेकानन्द पब्लिक स्कूल जगाधरी सेक्टर सत्रह में पांच दिवसीय रिसोर्स पर्सन्स ट्रेनिंग कार्यशाला का आयोजन किया गया
 जिसमे रिसोर्स पर्सन्स ने चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या बारे प्रशिक्षण प्रदान किया। वैज्ञानिक चेतना को जागृत कर समाज में वैज्ञानिक अभिरूचि को उजागर करने उसे पहचानने तथा वैज्ञानिक संकल्पनाओं को एक सशक्त मंच प्रदान करने के लिए भारत सरकार के विज्ञान एंव प्रोद्योगिकी विभाग, राष्ट्रीय विज्ञान एंव प्रोद्योगिकी एंव संचार परिषद नई दिल्ली, हरियाणा विज्ञान एंव प्रोद्योगिकी परिषद पंचकुला, जिला विज्ञान प्रमोशन कमेटी, शिक्षा विभाग व इरादा कुरुक्षेत्र के सयुंक्त तत्वाधान में 19 से 23 दिसम्बर तक जिले से चयनित अध्यापक, पीपुल्स टीचर्स, नेहरू युवा केंद्र के वोलिएंटर्स और विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। इस कार्यशाला का उद्देश्य समाज में सक्रिय तथाकथित चमत्कारी पुरषों के तथाकथित चमत्कारों से समाज को बचाना है। 
हालाँकि समाज में शिक्षा का प्रसार होने से इस प्रकार के तथाकथित अब कामयाब नहीं हो पाते क्योंकि शिक्षा ने ज्ञान विज्ञान के द्वार खोल दिए हैं। फिर भी यदाकदा इस प्रकार की घटनाएं पेश आती रहती हैं जिनमे किसी चमत्कार का दावा किया जाता है परन्तु लोग उसको जल्द ही नकार भी देते हैं क्योंकि वो दावा केवल तब तक ही चलता है जब तक उस चमत्कार की वैज्ञानिक व्याख्या न प्रस्तुत हो जाए। 
कार्यक्रम के संयोजक राजपाल पांचाल ने बताया कि इस कार्यशाला में भूतकाल में समाज को भ्रमित करने वाले चमत्कारों का वर्णन किया जाएगा जिससे जिले में 60 रिसोर्स पर्सन्स तैयार होंगे जो भविष्य में अपने अपने विद्यालयों और समाज में वैज्ञानिक जागरूकता का संचार करेंगें।
इण्डियन रिर्सोस एण्ड डैव्लोपमेन्ट एसोशिएशन (इरादा) के तत्वाधान में स्वामी विवेकानन्द पब्लिक स्कूल, सैक्टर 17, जगाधरी के प्रागंण में राष्ट्रीय विज्ञान एंव प्रौद्योगिकी संचार परिषद्, भारत सरकार के सहयोग से पांच दिवसीय चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या पर स्त्रोत व्यक्ति प्रशिक्षण कार्यशाला के दूसरे दिन सर्वप्रथम प्रतिभागी शबनम चौ0 देवी लाल कालेज की छात्रा द्वारा कल किए गए कार्य पर अपनी रिर्पोट प्रस्तुत की।
आज ग्वालियर से आए स्त्रोत व्यक्ति जितेन्द्र भटनागर ने प्रतिभागियो को प्रशिक्षण देते हुए अपनी जिव्हा के आर पार त्रिशुल निकाला, बिना माचिस के अग्नि उत्पन करे प्रतिभागियों को दिखाया व पानी से नारियल में आग लगाकर दिखाई व बताया की किस तरह तान्त्रिक भुत निकालने के नाम पर यह रसायनिक क्रिया कर लोगों को ठगते है वास्तव में वह नारियल के अन्दर सोडियम मटल को छुपा कर रखता है ओर मौका देखते ही उस पर पानी डाल कर आग लगा देता है, प्रतिभागियों को मन चाहि मिठाई भी खिलाई। 
जिसके उपरान्त सर्च, राज्य संसाधन केन्द्र से आए स्त्रोत व्यक्ति ब्रहम प्रकाश सैनी ने प्रतिभागियो को प्रशिक्षण देते हुए कहा कि तथा कथित बाबा लोगों को कल बल छल की मददत से लोगो को भ्रमित करते है, और अपना मकसद सीधा करते है। उन्होने अग्नि स्नान कर दिखया व हवा में भभुत पैदा कर दिखया व इन गतिविधियों के पीछे छिपे विज्ञान को समझाया व प्रतिभागियों के अन्दर व्याप्त भ्रम को दुर किया जिसके उपरान्त सभी प्रतिभागियों ने भी इस क्रिया को दोहरा कर आनन्द लिया। 
स्त्रोत व्यक्ति दर्शन लाल ने प्रतिभागियों को हर रोज हमारे बीच होने वाले चमत्कारों पर प्रकाश डालते हुए बहुत सारे प्रयोग कर प्रतिभागियो को सोचने के लिए मजबुर कर दिया, हवा में पानी को रोक कर, वशीकरण की वैज्ञानिक व्याख्या, तैरते पथर का रहस्य, फुलों का रंग बदलना, आज्ञाकारी वर्षा, पेट की गैस निकाल कर, जल को अभिमऩ्ित्रत करके दिखाया व उनके पीछे छिपे विज्ञान का भी समझाया। 
इरादा के सचिव राजपाल पांचाल ने कहा कि इस कार्यशाला का मुख्य उदेश्य अन्धविश्वास को दुर कर वैज्ञानिक चेतना पैदा करते हुए समाज को नई दिशा देना है। कार्यशाला में यमुनानगर के अध्यापको, आगनवाडी कार्यकता, नेहरु युवा केन्द्र के स्वय सेवक, बी0एड0 व जे0बी0टी0 के छात्र-छात्रों ने भागीदारी की।
मंच संचालन गौरव कुमार द्वारा किया गया।
कार्यशाला मे मुख्यरुप से इरादा के उपप्रधान व कार्यक्रम के उप समन्वयक सन्दीप विश्वकर्मा, संजीव कुमार, तर्कशील सोसायटी के अध्यक्ष आर पी गांधी जी उपस्थित रहें।
यमुनानगर 21-12-2016 इण्डियन रिर्सोस एण्ड डैव्लोपमेन्ट एसोशिएशन (इरादा) के तत्वाधान में स्वामी विवेकानन्द पब्लिक स्कूल, सैक्टर 17, जगाधरी के प्रागंण में राष्ट्रीय विज्ञान एंव प्रौद्योगिकी संचार परिषद्, भारत सरकार के सहयोग से पांच दिवसीय चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या पर स्त्रोत व्यक्ति प्रशिक्षण कार्यशाला के तीसरे दिन कार्यशाला की अध्यक्षता श्री प्रदीप सरीन जी अध्यक्ष, राजकीय अघ्यापक संघ, हरियाणा ने की, स्वप्रर्थम जिला समन्वयक दर्शन लाल द्वारा सभी प्रतिभागियों का स्वागत जिसके बाद प्रतिभागी द्वारा बीते कल किए गए कार्य पर अपनी रिर्पोट प्रस्तुत की। 
आज कार्यशाला के मुख्य स्त्रोत व्यक्ति जितेन्द्र भटनागर ने प्रतिभागियो को प्रशिक्षण देते हुए एक खाली बर्तन से बार बार पानी निकाल कर उसके पीछे के विज्ञान को उजागर करते हुए प्रतिभागियों के साथ विज्ञान के सिधान्त सांझा किए। उन्होने बिना चाकू के हवा में हाथ धुमा कर केलों को काट कर सभी को आर्श्चय चकित कर दिया।
वही दुसरे मुख्य स्त्रोत व्यक्ति ब्रहम प्रकाश सैनी द्वारा बताया गया की किस तरह तथाकथित बाबा, तान्त्रिक पीतल को सोना व ताबें को चांदी बना कर जन मानस के साथ धल करते है, उनके विश्वास को, आस्था के साथ खिलवाड करते है।
कार्यशाला के समन्वयक व इरादा के सचिव राजपाल पांचाल ने कांच खाकर प्रतिभागियों को दातों तले उगलिया दबाने पर विवश कर दिया, जिसके पश्चात उन्होने प्रतिभागियों को उसके बारे बताया व समझाया साथ ही प्रतिभागियों को अपने गले से एक चमचमाती तलवार को अपने गले से उतार कर अचम्बित किया व प्रतिभागियों को बताया की सभी चमत्कारों के पीछे चार कारण निहित होते है, जिनमे हाथ की सफाई, शरीर की बनावट, खास तरह के उपकरण व राशयनिक क्रिया होती है, जिनके बल पर हर तथाकथित बाबा, तान्त्रिक जन मानस के समुख प्रस्तुत कर उनका विश्वास प्राप्त करते है व अपना स्वार्थ सिद्ध करते है।
कार्यशाला की अध्यक्षता कर रहे प्रदीप सरीन ने प्रतिभागियों से अनुरोध किया की सभी प्रतिभागी इस कार्यशाला के बाद इस कार्यशाला मे प्राप्त ज्ञान को अपने विद्यायल मे, समाज में फैलाए, जिससे समाज में वैज्ञानिक सोच पैदा हो सके। 
इरादा के उप प्रधान व कार्यशाला के सह समन्वयक सन्दीप विश्वकर्मा, ने बताया की कार्यशाला में यमुनानगर के 65 प्रतिभागी भागेदारी कर रहे है जिमे अध्यापक, आगनवाडी कार्यकता, नेहरु युवा केन्द्र के स्वय सेवक, बी0एड0 व जे0बी0टी0 के छात्र-छात्रों ने भागीदारी कर रहे है।
आज कार्यशाला मे मुख्यरुप से संजीव कुमार, गौरव कुमार, जगदीश, दीपती सैनी, पुजा रोहिला, आरती रानी, अश्वनी कुमार, अशोक कुमार, व शिक्षा देवी उपस्थित रहें।



















Darshan Lal Baweja
Science Teacher Cum Science Communicator
Secretary C V Raman Science Club Yamunanagar
Distt. Coordinator NCSC, Haryana Vigyan Manch Rohtak
Master Trainer for Low/Zero Cost Science Experiments And Hobby Development
09416377166
Web Links 


No comments:

Post a Comment

टिप्पणी करें बेबाक