My Name on Mars

Saturday, October 10, 2015

भारत के अन्तरिक्ष में बढ़ते क़दम WSW-2015

भारत के अन्तरिक्ष में बढ़ते क़दमों से पूरी दुनिया आश्चर्यचकित शशि बाठला
विश्व अंतरिक्ष सप्ताह के छठे दिन आज आज स्थानीय मुकुंद लाल पब्लिक स्कूल सरोजिनी कालोनी मे अंतरिक्ष में खोज और नयी तकनीक विषयों पर एक भाषण प्रतियोगिता और पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता का शुभारम्भ विद्यालय की प्रधानाचार्या शशि बाठला ने किया और अपने संबोधन में बच्चों को बताया कि भारत के अन्तरिक्ष में बढ़ते क़दमों से पूरी दुनिया आश्चर्यचकित है। भारतीय अन्तरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो नित नए रिकार्ड कायम कर रहा है जिस से विश्व के लिये भारत एक बड़ा अन्तरिक्ष बाज़ार बन रहा है। 
बहुत से देश अपने उपग्रह अब भारत से प्रक्षेपित करवा रहें है जो कि हम सब के लिए गर्व का विषय है। हमारे लिए और भी गर्व की बात है कि नासा जैसे विश्वविख्यात अन्तरिक्ष प्रतिष्ठान में भी बहुत से अन्तरिक्ष वैज्ञानिक भारतीय या भारतीय मूल के ही हैं। एक बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने  देश के पहले एस्ट्रोसैटउपग्रह पीएसएलवी-सी30 का प्रक्षेपण कर इतिहास रच दिया। 
यह भारत का पहला एस्ट्रोसैट उपग्रह है और इससे ब्रहांड को समझने और सुदूरवर्ती खगोलीय पिंडों के अध्ययन करने में में मदद मिलेगी। 513 किलोग्राम का एस्ट्रोसैट उपग्रह को 6 अन्य विदेशी उपग्रहों के साथ प्रक्षेपित किया गया, जिससे दुनिया के अन्तरिक्ष तकनीक से लैस चंद नामी देशों में भारत का नाम भी आ गया। 
इस अवसर पर विद्यार्थियों द्वारा भी चंद्रयान, मंगल मिशन, परग्रहीय जीवन की खोज, अन्तरिक्ष कचरा और निवारण, मौसम और जलवायु नियन्त्रण पर अन्तरिक्षीय नजर, मिशन बृहस्पति, एलियन से दोस्ती, मंगल पर जल और जीवन की तलाश विषयों पर चर्चा की गयी।
बालकों ने खगोलीय घटनाओं सूर्य व चन्द्र ग्रहण आदि के अवलोकन का सामजिक, धार्मिक दृष्टि से प्रचलित अंधविश्वासों पर मंथन और निवारण विषयों पर अपने विचारों और समझ को आपस में सांझा किया। इस अवसर पर बच्चों ने जिला समन्वयक दर्शनलाल से अन्तरिक्ष विज्ञान और विज्ञान पत्रकारिता जैसे क्षेत्र में कैरियर बनाने की संभावनाओं पर चर्चा की।    
परिणाम

इन प्रतियोगिताओं में शालिनी भट्ट, मानवी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। आकांक्षा राणा व अमन सैनी ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। पारस बतरा व यश कुमार ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।। इस कार्यक्रम मे किरण मनोचा, पूजा कालरा व ममता वर्मा सचदेवा, साक्षी सिक्का व जसप्रीत कौर अध्यापिकाओं का योगदान सराहनीय रहा।

अखबारों में 

Darshan Lal Baweja
Science Teacher Cum Science Communicator
Secretary C V Raman Science Club Yamunanagar
Distt. Coordinator NCSC, Haryana Vigyan Manch Rohtak
Web Links 

Friday, October 09, 2015

क्ले मोडलिंग व पोस्टर बनाओ प्रतियोगिता WSW-2015 competitions

क्ले मोडलिंग व पोस्टर बनाओ प्रतियोगिता WSW-2015 competitions 
अंतरिक्ष में डिस्कवरी विषय पर हुई क्ले मोडलिंग व पोस्टर बनाओ प्रतियोगिता  
पोस्टर का प्रदर्शन करते हुए बच्चे और साथ में प्रधानाचार्या व शिक्षिकाएं 
विश्व अंतरिक्ष सप्ताह के अंतर्गत आज होली मदर पब्लिक स्कूल कांसापुर रोड़ मे विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह के अंतर्गत स्पेस डिस्कवरी थीम पर क्ले मोडलिंग, पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। दिन के मध्यान्ह समय को ज्ञात करने का प्रयोग (नून डे टाइम एक्सपेरिमेंट) भी करवाया गया। 
क्ले मौडलिंग कलाकृतियाँ दिखाते बच्चे 
इन प्रतियोगिताओं में बच्चों ने ग्रह, उपग्रह, धूमकेतु, आकाश गंगा, स्पेस क्राफ्ट, कृत्रिम उपग्रह, सौर मंडल की आकृतियाँ बना कर सबका मन मोह लिया। इस प्रतियोगिता का आयोजन विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह के आजोजक संगठन, स्पेस संस्था नयी दिल्ली, हरियाणा विज्ञान मंच रोहतक व सी वी रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर के सयुंक्त तत्वाधान में किया गया। प्रतियोगिता में अस्सी बच्चों ने विभिन्न बच्चों ने अंतरिक्ष व खगोलीय खोज विषय पर पोस्टर बनाए।
आज ही बच्चों ने भूमध्य, कर्क-मकर, अक्षांशिय, देशांतर रेखाओं का भी ज्ञान अर्जित किया। बच्चों ने विज्ञान शिक्षिका दीपिका देशवाल के मार्गदर्शन में दिन के मध्यान्ह समय को ज्ञात करने का प्रयोग करना भी सीखा।
आज के इस आयोजन में प्रतिभागी विद्यार्थियों से संवाद करते हुए विद्यालय की प्रधानाचार्या मोनिका कश्यप कहा कि बच्चों को विज्ञान में रूचि लेते हुए बड़ी बड़ी कल्पनाएँ करनी चाहियें कि वो विज्ञान से क्या चाहते हैं ताकि वैज्ञानिक उन कल्पनाओं साकार कर सकें। स्कूल के बच्चों ने  विश्व अंतरिक्ष सप्ताह के अंतर्गत विज्ञान गतिविधियों में बहुत ही उत्साह से भाग लिया।

परिणाम
इस पोस्टर प्रतियोगिता मे पदमालाया ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। दिव्यांशु   ने द्वितीय व निखिल राणा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इस कार्यक्रम मे विद्यालय के भूगोल अध्यापक डीके पाण्डेय, विज्ञान विभाग से दीपिका देसवाल, रेखा सुंदर, सपना वा दीपिका काम्बोज का योगदान सराहनीय रहा।
अख़बारों में 

प्रस्तुती:  दर्शन लाल बवेजा 







Wednesday, October 07, 2015

विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह-2015 World Space Week-2015

विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह के अंतर्गत हुआ विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन
अंतरिक्ष में खोज विषय पर हुई पेंटिंग प्रतियोगिता में देविका और अर्पित प्रथम
   
विश्व अंतरिक्ष सप्ताह के अंतर्गत आज स्वामी विवेका नन्द पब्लिक स्कूल सेक्टर सात हुडा जगाधरी  मे विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह के अंतर्गत अंतरिक्ष में खोज  विषय पर एक पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता का आयोजन विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह आजोजक संगठन, स्पेस संस्था दिल्ली, हरियाणा विज्ञान मंच रोहतक व सी वी रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर के सयुंक्त तत्वाधान में चालीस
बच्चों ने अंतरिक्ष व खगोलीय खोज विषय पर अपनी कल्पनाओं को रंगों के माध्यम से कागज पर उकेरा। आज ही बच्चों ने पृथ्वी की परिधि एवं माई साइंस बाक्स प्रोजेक्ट से सम्बंधित गतिविधियाँ भी की।
आज के इस आयोजन में प्रतिभागियों व विज्ञान क्लब के सदस्यों को सम्बोधित करते हुए स्वामी विवेका नन्द पब्लिक स्कूल सेक्टर सात हुडा जगाधरी की प्रधानाचार्या अनीता काम्बोज ने बताया
कि चार  अक्टूबर 1957 को पहला मानव निर्मित उपग्रह स्पुतनिक प्रथम अंतरिक्ष में भेजा गया था। इसी  दिन मनुष्य की अंतरिक्ष मे कोई मानव निर्मित उपग्रह भेजने की अभिलाषा पूरी हुई थी, इसलिए इस दिन को स्मरण करने के उद्देश्य से विश्व अंतरिक्ष सप्ताह मनाया जाता है।
जिले के विभिन्न विद्यालयों मे विश्व अंतरिक्ष सप्ताह का आयोजन चार अक्टूबर से दस अक्टूबर तक किया जा रहा है जिसमे विभिन्न प्रतियोगिताएं और कार्यशालाएं आयोजित की जायेंगी। इस आयोजन में स्वामी विवेका नन्द पब्लिक स्कूल जगाधरी, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय अलाहर, मुकंद लाल पब्लिक स्कूल सरोजिनी कालोनी, होली मदर पब्लिक स्कूल यमुनानगर सक्रियता से भाग ले रहे हैं।
आगामी कार्यक्रम
हरियाणा विज्ञान मंच रोहतक व सी वी रमण विज्ञान क्लब यमुनानगर के प्रभारी दर्शन लाल बवेजा विज्ञान अध्यापक ने बताया कि इस जिले भर के बच्चे विश्व अंतरिक्ष सप्ताह में विभिन्न स्पेस गतिविधियों में भाग लेंगे जिस में मुख्य रूप से दिन के समय की जा सकने वाली खगोलीय गतिविधियां, सुरक्षित सूर्य अवलोकन, मंगल ग्रह अन्वेषण, धूमकेतु पर कार्यशाला
माई साइंस बाक्स, रात्री आकाश अवलोकन, खगोलीय पिंडों की पहचान, मंगल गेह अन्वेषण कार्यक्रम पर प्रश्नोत्तरी व वाद विवाद, मिनी दूरदर्शी बनना, रात्री आकाश में स्टार गेजिंग, सूर्य घड़ी बनाना, विश्व के महान अंतरिक्ष वैज्ञानिकों व अंतरिक्ष यात्रियों के जीवन व कार्यों पर चर्चा, जल राकेटभारत का अंतरिक्ष कार्यक्रम और चंद्रयान अभियान पर गोष्ठी, कृत्रिम उपग्रहों के लाभ व हानि पर वाद विवाद प्रतियोगिता व पेंटिंग प्रतियोगिता, स्पेस साइंस फिक्शन व विज्ञान गल्प कथा वाचन, अंतरिक्ष विज्ञान माडल प्रदर्शनी  आदि कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा।
परिणाम
इस पेंटिंग प्रतियोगिता मे देविका, अर्पित ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। जिज्ञासा व सार्थक  द्वितीय स्थान पर रहे। श्रेया व हिमानी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। सांत्वना पृरस्कृत आयुषी व अक्षित की पेंटिंग्स ने भी सभी को आकर्षित किया। इस कार्यक्रम मे विद्यालय के कला प्रभारी गुरदेव सिंह, विज्ञान विभाग से ज्योतिका डांग, रीना मल्होत्रा, सुबुही सहगल व भावना का योगदान सराहनीय रहा।
अखबारों में 





प्रस्तुतिकरण: दर्शन लाल बवेजा