My Name on Mars

Friday, August 15, 2014

बच्चे छोटे पर काम बड़े Science Exhibition

बच्चे छोटे पर काम बड़े Science Exhibition 
वाटर लिफ्टिंग 
 गत दिनों स्थानीय स्प्रिंग डेल्स पब्लिक स्कूल जगाधरी वर्कशाप मे आयोजित विज्ञान एवं आर्ट क्राफ्ट प्रदर्शनी को विशेष निमंत्रण पर  देखने के लिए जाने का अवसर मिला तो पाया कि अध्यापकों, अभिभावकों और स्कूल प्रशासन की बेहतरीन तालमेल के फलस्वरूप  कुछ भी ऐसा असंभव नहीं जो प्राप्त ना किया जा सके बस मेहनत और लगनशीलता होनी चाहिए
स्प्रिंग डेल्स पब्लिक स्कूल जगाधरी वर्कशाप एक निजी संचालित कक्षा सात तक का स्कूल है जो कि निरंतर प्रगति की और अग्रसर है और इस विद्यालय की प्रधानाचार्या अनीता सरदाना का कहना है कि उन्होंने एक खास उद्देश्य को लेकर इस स्कूल की शुरुवात की थी जिसमे कि गुणवतापूर्ण शिक्षा प्रदान करना एक मुख्य घटक था


नर्वस सिस्टम 
उन्होंने बताया कि वर्षों की अथक मेहनत के बाद उनका विद्यालय आज इस मुकाम पर है कि जिले मे प्राथमिक स्तर पर इतनी गतिविधियो को शामिल करके शिक्षा देने मे उनका कोई मुकाबला नहीं कर सकता। विज्ञान प्रदर्शनी, बाल विज्ञान कांग्रेस, विज्ञान प्रश्नोत्तरी, विज्ञान मेला, विज्ञान नाटक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियाँ आर्ट एंड क्राफ्ट, रोबोट व प्रेक्टिकल कार्यशालाएं आदि प्रतियोगिताओं मे भाग लेकर स्कूल के विद्यार्थियों ने बेहतर प्रदर्शन किया है और पुरूस्कार भी जीते हैं। 
प्लांट सेल 


इस विज्ञान प्रदर्शनी का उद्घाटन जिला सुचना अधिकारी श्री रमेश गुप्ता और सरपंच श्री सेवा सिंह ने किया और इस अवसर पर उन्होंने पृथ्वी की सुरक्षा के संदेश का आवहान करता हाइड्रोजन गैस से भरा एक रंगबिरंगा गुब्बारों का गुच्छ भी आकाश मे छोड़ा और बाद मे उन्होंने एक एक प्रतिभागी के पास जाकर उसके विज्ञान माडलों के बारे मे पूछा और मुक्त कंठ से बच्चों और अध्यापकों की प्रशंसा की


अभिकेन्द्र बल Centripetal force को प्रदर्शित करता एक प्रयोग

एक बोर्ड पर चारों कोनों मे सुराख करके नाइलोन की रस्सी से बराबर बाँध लेते हैं केन्द्रीय गाँठ से उपर की रस्सी की लम्बाई अपने कद के मुताबिक़ रखते हैं और उस पर तीन चार पात्र पानी से भर कर रखते हैं


फिर इस को नियमित और सावधानी पूर्वक घुमाने से हम देखते हैं कि पानी के पात्र नहीं गिरते है ऐसा क्यों होता है इस को इस लिंक से जाने 


देखें इस बालक का ये प्रयोग करते हुए वीडियो 



विभिन्न प्रकार के पुलों के बारे मे बताता माडल 



अखबार मे 





             

No comments:

Post a Comment

टिप्पणी करें बेबाक