My Name on Mars

Friday, May 18, 2012

यमुनानगर में शुक्र पारगमन की दृश्यता की समयसारणी जारी Timetable of Transit of Venus

यमुनानगर में शुक्र पारगमन की दृश्यता की समयसारणी जारी  Timetable of Transit of Venus
दो काली घड़ियाँ बताती हैं कि उस वक्त रात्रि (अँधेरा) होगी
पारगमन की अवस्थाएं एवं समय
आज सी.वी.रमण विज्ञान क्लब द्वारा यमुनानगर की सरोजिनी कालोनी के लिए शुक्र पारगमन की दृश्यता की समयसारणी जारी की गई। इस अवसर पर क्लब सदस्यों की एक बैठक बुलाई गयी और उस में कम्प्यूटरीकृत सोफ्टवेयर की मदद से पारगमन की समयसारणी  जेनरेट की गई और वह चित्र भी प्राप्त किया जिससे पता चला है कि इस बार शुक्र ग्रह पारगमन का पथ यमुनानगर में हॉकी स्टिक जैसा बनेगा।
शुक्र पारगमन समस्त भारत समेत यमुनानगर में तब शुरू हो चुका होगा जब सूर्योदय नहीं हुआ होगा। शुक्र पारगमन की पांच अवस्थाएं होती है जो शुक्र ग्रह के सूर्य पर पथ के अनुरूप होती हैं। सूर्योदय से पहले दो अवस्थाएं जा चुकी होंगी। जब सूर्योदय होगा तब शेष तीन पारगमन अवस्थाएं हम देख सकेंगे। इन पांच में से अवस्थाओं को पारगमन सम्पर्क कहते हैं और बीच की अवस्था को महत्तम पारगमन कहते हैं।
यमुनानगर सरोजिनी कालोनी और लगभग सारे शहर के लिए शुक्र पारगमन 6 जून 2012 की समय सारणी इस प्रकार है। सम्पर्क एक यानी बाह्य अन्तः प्रवेश प्रातः 03:39:12 बजे, सम्पर्क दो यानी आंतरिक अन्तः प्रवेश प्रातः 03:57:00 बजे, सूर्योदय प्रातः05:19:43 बजे, महत्तम पारगमन अवस्था प्रातः 07:00:51 बजे, सम्पर्क तीन यानी आंतरिक निर्गमन प्रातः 10:05:11 बजे, सम्पर्क चार यानी बाह्य निर्गमन प्रातः 10:22:30 बजे होगा।
क्लब प्रभारी दर्शन लाल (मैं) विज्ञान अध्यापक जो कि शौकिया खगोलशास्त्री भी हैं ने बताया कि हम सूर्योदय से लेकर सम्पर्क चार सम्पर्क चार यानी बाह्य निर्गमन प्रातः 10:22:30 बजे तक शुक्र पारगमन अवलोकन का आनंद उठा सकते हैं। यह अवलोकन कुल पारगमन का 57% होगा और पारगमन का पथ हॉकी स्टिक की तरह होगा। अगर हम इस दुर्लभ खगोलीय घटना को इस बार चूक गए तो अगला शुक्र पारगमन 11 दिसंबर 2117 में होगा। कोई भी वर्तमान व्यक्ति अपने जीवन में 2117 का शुक्र पारगमन नहीं देख सकता।
उन्होंने बताया कि किसी भी अवस्था में सूर्य को सीधे नहीं देखना है नहीं तो आँखों को भारी क्षति पहुँच सकती है। केवल सौर डिस्क का प्रक्षिप्त बिम्ब देंखे। दूरबीन/बाइनाक्यूलर और पिनहॉल कैमरा से सूर्य के बिम्ब का प्रेक्षेपण पिन होल, दूरबीन या बाइनाक्यूलर की एक जोड़ी द्वारा एक छायादार दीवार पर सूर्य के प्रतिबिम्ब को प्रेक्षिपित करें। केवल वैज्ञानिक रूप से जांचे गये सौर फिल्टर का इस्तेमाल करक ही सूर्य की ओर देखना चाहिए।
यदि कोई पाठक अपने शहर का समयसारणी चित्र प्राप्त करना चाहता हो तो कृपया टिप्पणी में या मेल से पूछ सकता है उनको चित्र जेनेरेट कर के भेज दिया जाएगा 
अमर  उजाला अखबार ने इस खबर को छापा 
प्रस्तुति:- सी.वी.रमन साइंस क्लब यमुना नगर हरियाणा
द्वारा:- दर्शन बवेजा,विज्ञान अध्यापक,यमुना नगर,हरियाणा

No comments:

Post a Comment

टिप्पणी करें बेबाक