Wednesday, June 15, 2011

चन्द्रग्रहण पर एक दिविसीय कार्यशाला सम्पन्न Lunar Eclipse Workshop


प्रतिभागी क्लब सदस्य 

पूर्ण चन्द्रग्रहण पर एक एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन
अमर उजाला 16-06-2011 
 15-06-2011 सी.वी.रमण विज्ञान क्लब सरोजिनी कालोनी यमुना नगर ने सार्वाधिक अन्धकारयुक्त  पूर्ण चन्द्रग्रहण पर एक एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जिसके  प्रथम सत्र मे क्लब सदस्यों और अभिभावकों को पूर्ण चन्द्रग्रहण के बारे मे विस्तार पूर्वक बताया गया श्री दर्शन बवेजा ने चंद्रग्रहण और सूर्यग्रहण से सम्बन्धित अंधविश्वासों का निवारण किया और कहा कि हमे अन्धविश्वाश मुक्त हो कर इस खगोलीय नज़ारे का आनंद लेना चाहिये क्यूंकि यहाँ शायद कुछ यह नज़ारा फिर 2058 ई. मे  दुबारा ना देख पायें तो इस अवसर को नहीं चूकना चाहिए.
पूर्णिमा की आधी रात को खग्रास चंद्रग्रहण खास वैज्ञानिक महत्व रखता है चंद्रग्रहण की इस स्तिथि का वैज्ञानिक कईं तरीको से विश्लेषण करते है और महत्वपूर्ण परिणाम निकालते हैं.
माडल से पूर्ण चंद्रग्रहण समझाते हुए 
क्लब सदस्य आंचल कम्बोज,अमन,नमन वाशिष्ठ मे अपने बनाए गए माडल से पूर्ण चंद्रग्रहण के सभी प्रकारों को विस्तार से करके समझाया.
इसके बाद एक पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमे 15 क्लब सदस्यों ने भाग लिया चित्रकारी प्रतियोगिता के विषय नेचर,सौरउर्जा व चंद्रग्रहण रखे गए.
कुछ क्लब सदस्यों ने रात्री मे इस पूर्ण चंद्रग्रहण को अपने परिवार के साथ देखने की योजना बनाई है और कुछ ने क्लब सदस्यों के साथ.यदि आज रात्री का मौसम साफ़ रहता है तो यह अदभुद और विलक्षण नज़ारा अविस्मरणीय बन जाएगा.
इस कार्यशाला मे इंदु,आंचल,पार्थवी,नमन,अमन,दिशु,स्पर्श,अवनि,आरुशी,वन्शु,मोना,जसमीत,काजल,अर्श सैनी ने भाग लिया.
बच्चों ने स्वयं लिए ये छायाचित्र 
द्वितीय सत्र मे रात 11:30 से 3:30 प्रातः तक पूर्ण चन्द्रग्रहण का अवलोकन किया और हर 15 मिनट के अंतराल पर मुक्त हस्त चित्र बनाए और कैमरे से भी चित्र लिए.सभी क्लब सदस्यों ने इस पूर्ण चंद्रग्रहण का पूर्ण आनंद लिया.
क्लब सदस्यों के अनुसार इस कार्यक्रम से उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिला और सबसे बड़ी बात यह की हमे अंधविश्वासों पर ना चल कर हर एक खगोलीय घटना का सुरक्षित आनंद लेना चाहिए.
दैनिक भास्कर 
सबसे बड़ी बात यह रही कि मौसम मे पूरा साथ दिया इसलिए सब प्रकृति के भी धन्यवादी हैं. क्लब सदस्यों को यह भी सूचना दी गयी कि अभी दो और चन्द्रग्रहण आने वाले हैं वे उन का भी आनंद ले और जल्द ही अंतर्राष्ट्रीय रसायन वर्ष 2011 के अवसर पर एक रसायन के प्रयोग और चमत्कारों का खंडन नामक कार्यशाला का भी आयोजन किया जाएगा.
         
प्रस्तुति :- सी.वी.रमन साइंस क्लब यमुना नगर हरियाणा
द्वारा :-दर्शन बवेजा,विज्ञान अध्यापक,यमुना नगर,हरियाणा
विज्ञानं संचार में अपना योगदान दें इस ब्लॉग के फालोअर बन कर    

4 comments:

  1. बहुत सफल कार्यशाला ...
    आभार .....एक बात बताईये क्या पूर्ण ग्रहण पर चाँद ताम्बे के रंग का लग रहा था या लाल
    या फिर काला धब्बा -
    विज्ञान संचार में आपकी निष्ठां प्रेरणादायक है !

    ReplyDelete
  2. धन्यवाद जी
    ताम्बे के रंग का था.

    ReplyDelete

टिप्पणी करें बेबाक