My Name on Mars

Tuesday, March 29, 2011

विज्ञान पहेली-9 Science Quiz-9(और Science Quiz-8 का उत्तर)

विज्ञान पहेली-9 Science Quiz-9(और Science Quiz-8 का उत्तर)
बड़ी खुशी से सूचित किया जाता है की इस ब्लॉग पर पहेलियों के प्रथम विजेता बने हैं
श्री आशीष मिश्रा  जी उनको बधाईयाँ …….
उपर  में है मिश्रा जी के लिए प्रमाणपत्र  ..
यह  चित्र  राजस्थान एटोमिक पावर स्टेशन का है यह PFBR (प्रोटोटाइप फास्ट ब्रीडर रिएक्टर) है | 
आप अपना होम एड्रेस उपलब्ध करवाएं ताकि आप को पुरूस्कार  स्वरूप किताब भेजी जा सके |
पहेली  में भाग लेने वाले सभी सुधीजनो का बहुत बहुत धन्यवाद .......
*******************************************************************************
 विज्ञान पहेली -9 Science Quiz -9
*******************************************************************************
अब  से यहाँ पहेली 10 दिनों के अंतराल पर शुरू की जा रही है बाकी नियम वही हैं |
                                      यह  क्या है ?

हिंट : इससे एक बहुमूल्य/महँगी  वस्तु प्राप्त होती है |
 पहेली का जवाब 10-4-2011 , 9 बजे तक दे सकते है |
प्रस्तुति:- सी.वी.रमन साइंस क्लब यमुना नगर हरियाणा
द्वारा--दर्शन बवेजा,विज्ञान अध्यापक,यमुना नगर,हरियाणा
विज्ञानं संचार में अपना योगदान दें इस ब्लॉग के फालोअर बन कर     
 उत्साहवर्धन करें |  

11 comments:

  1. बहोत बहोत धन्यवाद सरजी

    ReplyDelete
  2. अभी तक उल्कापिंडों में केवल 52 रासायनिक तत्वों की उपस्थिति प्रमाणित हुई है जिनके नाम निम्नलिखित हैं:

    । ऑक्सीजन । गंधक । प्लैटिनम । लोहा

    । आर्गन गैलियम । फ़ास्फ़ोरस वंग (राँगा)

    आर्सेनिक जरमेनियम बेरियम वैनेडियम

    इंडियम ज़िरकोनियम बेरीलियम । सिलिकन

    । इरीडियम । टाइटेनियम । मैंगनीज़ सीज़ियम

    । ऐंटिमनी टेलूरियम मैगनीशियम सीरियम

    । ऐल्युमिनियम । ताम्र मौलिबडेनम सीस (सीसा)

    । कार्बन थूलियम यशद (जस्ता) । सोडियम

    कैडमियम । नाइट्रोजन रजत (चाँदी) स्कैंडियम

    । कैल्सियम । निकल । रुथेनियम स्वर्ण (सोना)

    । कोबल्ट पारद रुबीडियम स्ट्रौंशियम

    । क्रोमियम । पैलेडियम । रेडियम । हाइड्रोजन

    । क्लोरीन । पोटैसियम लीथियम । हीलियम

    ReplyDelete
  3. कहीं ये ग्रेनाईट पत्थर तो नहीं है

    प्रणाम

    ReplyDelete
  4. बवेजा जी, आपने भू-विज्ञानं सम्बन्धी प्रश्न पूछा है देखकर अत्यंत प्रसन्नता हुई ... आपका क्लू भी बढ़िया है ... :)

    ReplyDelete
  5. भारतीय परमाणु रिएक्टरों की सुरक्षा संबंधी कई जिज्ञासाएं भी हमारे मनो-मष्तिष्क में उभर रही हैं, मगर उनकी ओर से बेफिक्र रहने के लिए 17/03/2011 के ‘अमर उजाला’ दैनिक में श्री धीरेंद्र शर्मा जी के संपादकीय लेख की वो पंक्तियाँ ही पर्याप्त हैं, जिनमें उन्होंने एक परमाणु संयंत्र में एक शीर्ष वैज्ञानिक से मुलाकात का उल्लेख किया है – जिन्होंने अपनी ऊँगली में सोने की अंगूठी धारण कर रखी थी, जिसमें पूरे 9 रत्न जड़े हुए थे. पूछने पर उनका कहना था कि उन्हें परमाणु विकिरण के खतरे में काम करना पड़ता है इसलिए तिरुपति के आशीर्वाद वाली यह अंगूठी रखी है ताकि किसी भी दिशा से आने वाले विकिरण से बचा जा सके. !!! है कोई जवाब ??? अरे – रे! अब अपने सर के बाल न नोचें और शीघ्रातिशीघ्र ऐसी अंगूठियों की खोज में लग जायें. जापान को राहत के रूप में हमें ऐसी अंगूठियां न भेज देनी चाहिए थीं ? मानसिक संबल के लिए ज्योतिष चलो माना, मगर आणविक सुरक्षा !! It may happens only in India.......

    ReplyDelete
  6. धन्यवाद
    इन्द्रनील जी
    आपको उत्तर पता है और आप ने नहीं दिया
    आपके विभाग का प्रश्न है इस लिए आप ने इस को दूसरों के लिए छोड़ दिया है
    वाह वाह ....
    ये होती है खेल भावना
    धन्यवाद फिर से

    ReplyDelete
  7. आज राबर्ट बुन्सेन का २०० वा जन्म दिन है ये वो ही राबर्ट बुन्सेन हैं जिन्होंने प्रयोगशाला वाला बुन्सेन बर्नर बनाया था आज गूगल का लोगो इन्ही को समर्पित है
    n 1811, German scientist Robert Bunsen, who helped develop the Bunsen burner, was born.
    इनको नमन ....
    Robert Wilhelm Bunsen was born on March 31, 1811 in Germany. After earning a doctorate at age 19 and traveling extensively throughout Europe, he returned to Germany to teach at the university in Gottingen. It was there that he discovered that iron oxide hydrate could be used as a precipitating agent, a solution that is still considered to be the best antidote for arsenic poisoning.

    ReplyDelete

टिप्पणी करें बेबाक