Friday, October 29, 2010

परखनली में तड़ित बना कर देखना How to make test tube Thunderstorm

परखनली में तड़ित बना कर देखना  How to make test tube Thunderstorm
आज अपनी परियोजना के अंतर्गत बच्चों ने परखनली में तड़ित बना कर देखी ,वैसे जो तड़ित वृष्टि बादलों में बनती है वो अलग प्रक्रिया है परन्तु विभिन्न  रसायन मिला कर परखनली में तड़ित वृष्टि बना कर देखने का मज़ा लिया और बहुत कुछ सीखा  |

इस प्रयोग के लिए निम्न चीजों की जरूरत है |

H2SO4 सान्द्र यानी सल्फ्यूरिक अम्ल  ,CH3CH2OH यानी इथेनोल या एथिल अल्कोहल,KMnO4 पोटाशियम परमेगनेट 

कैसे  किया ये सब

1.परखनली में थोडा सा H2SO4 सान्द्र यानी सल्फ्यूरिक अम्ल लिया

2.सावधानी से दीवार के सहारे साहरे CH3CH2OH यानी इथेनोल या एथिल अल्कोहल डाला     

    (4-5 गुना सल्फ्यूरिक अम्ल से)

3.अब इस मिश्रण में थोडा सा KMnO4 पोटाशियम परमेगनेट डालते है

   
और लैब में अँधेरा कर देते है

कुछ ही क्षणों में शुरू  होता है गजब का नज़ारा

जैसे वर्षा में तडित यानी बिजली गिर रही हो |

  
ये हमारे अपने प्रयोग का वीडियो है|   

    बाकी यू-ट्यूब पर भी है इस प्रयोग का वीडियो

   ये लिंक है

   लिंक -1  

   लिंक -2 पूरी विधि के साथ  

  नोट :- इस प्रयोग में प्रयुक्त रसायन खतरनाक है और इस प्रयोग को असावधानीपूर्वक करना खतरनाक हो सकता  है

  आवश्यक सुरक्षा इंतजाम कर के आध्यापक के नेतृत्व में ही यह प्रयोग कर के देखें  

    प्रयोग से सम्बंधित सभी रासायनिक क्रिया

Concentrated sulfuric acid reacts with KMnO4 to give Mn2O7, which can be explosive
Mn2O7 arises as a dark green oil by the addition of H2SO4 to KMnO4. The reaction initially produces permanganic acid, HMnO4 (structurally, HOMnO3), which is dehydrated by sulfuric acid to form its anhydride, Mn2O7.
2 KMnO4 +(cold) 2 H2SO4 → Mn2O7 + H2O + 2 KHSO4
Mn2O7 can react further with sulfuric acid to give the remarkable cation MnO3+, which is isoelectronic with CrO3:[citation needed]
Mn2O7 + 2 H2SO4 → 2 [MnO3]+[HSO4] + H2O
Mn2O7 decomposes near room temperature, explosively so at > 55 °C. The explosion can be initiated by striking the sample or by its exposure to oxidizable organic compounds. The products are MnO2 and O2. Ozone is also produced, giving a strong smell to the substance. The ozone can spontaneously ignite a piece of paper impregnated with an alcohol solution. This may be interesting but the producing of manganese heptoxide is an undesirable byproduct in many situations.

प्रस्तुति:- सी.वी.रमन साइंस क्लब यमुना नगर हरियाणा

द्वारा--दर्शन बवेजा ,विज्ञान अध्यापक ,यमुना नगर ,हरियाणा

Wednesday, October 20, 2010

आओं एक मैजिक ट्रिक सीखें Learn a magic trick


आओं एक मैजिक ट्रिक सीखें  Learn a magic trick
magic-0
आज बच्चो ने एक मैजिक ट्रिक सीखी
पर उन को पहले ये बताया गया कि जादू वादू कुछ नहीं होता बस ये तो  ट्रिक्स,विज्ञान के नियम/सिद्धांत,रसायनों की क्रियाएँ,हाथ की सफाईऔर दृष्टी-भ्रम पर आधारित होते है |
magic-1 magic-2 magic-3 magic-4
magic-5  magic-6magic-7 magic-8 magic-9 magic-10
ऊपर दिए गए चित्रों के क्रमवार हम इस ट्रिक मे ये जाने सीखेगें कागज फटने के बाद भी कैसे साबुत रह गया |
1. दो पेपर नेपकिन (टिशु पेपर) लो ,एक जैसे रंगीन
2. पहले  पेपर नेपकिन को चार फोल्ड कर के ऊपर से 2इंच काट लो
3. काट कर निचला सिरा फेंक देते है
4. ऊपर के सिरे को एक हाथ की मुटठी मे छिपा लेते है 
नोट यहाँ तक का काम छुपा कर करते है 
5. सब लोगों को दूसरा वाला पेपर नेपकिन दिखते है और बोलते है देखो ये साबुत है फटा हुआ नहीं है
6 व 7  . सावधानी से इस यानी दूसरे पेपर नेपकिन को उसी हथेली मे जिस मे वो कागज का टुकड़ा छिपाया है मे मुट्ठी मे ले लेते है
8 व 9. अब किसी से भी मुटठी से बहार वाले पेपर नेपकिन को फाड़ने को देते है पहले पेपर नेपकिन के टुकड़े को कस कर पकड़ते है जब वो फाड़ने के ज़ोर लगायेगा तो ऊपर वाला टुकड़ा छोड़ देंगे
सब समझेंगे कि पेपर नेपकिन फट गया है परन्तु वो तो वो वाला टुकड़ा था जो छुपाया गया था  10.अब सब को पेपर नेपकिन खोल कर दिखा दें
वो तो फटने के बाद भी साबुत निकलेगा सब खुश होंगे 
यह  वीडियो भी देखे अगर और जानना चाहते हो तो
video
 
Technorati Tags: ,,,

प्रस्तुति:- सी.वी.रमन साइंस क्लब यमुना नगर हरियाणा
द्वारा--दर्शन बवेजा ,विज्ञान अध्यापक ,यमुना नगर ,हरियाणा

Tuesday, October 19, 2010

लो और नए विज्ञान चुटकले आये Science Joks

लो और नए विज्ञान चुटकले आये Science Joks

1. अध्यापक (छात्र से)- मैंने तुम्हें कुत्ते पर एक साईंस नोट लिखने को कहा था, लिख के क्यों नही लाये।
छात्र (अध्यापक से)- मैंने जैसे ही कुत्ते के ऊपर लिखने के लिए पेन रखा वो भाग गया। 


2. वैज्ञानिक -इस फार्मूले के पीछे मेरे 5 साल निकल गए |
छात्र -इसका मतलब सर आपने इसे इजाद करने मे बहुत मेहनत की 
वैज्ञानिक -  इजाद तो यह एक हफ्ते मे हो गया था लेकिन इसको बेचने मे 5साल लगे |


3. डॉक्टर (मरीज से)- अब तुम बिल्कुल ठीक हो गये हो फिर भी क्यों डर रहे हो?
मरीज (डॉक्टर से)- जिस गाड़ी से मेरा एक्सीडेंट हुआ था उस पर लिखा था फिर मिलेंगे। 


4.एक आदमी मनोचिकित्सक के पास गया। बोला -डॉक्टर साहब मैं बहुत परेशान हूं। जब भी मैं बिस्तर पर लेटता हूं, मुझे लगता है कि बिस्तर के नीचे कोई है। जब मैं बिस्तर के नीचे देखने जाता हूं तो लगता है कि बिस्तर के ऊपर कोई है। नीचे, ऊपर, नीचे, ऊपर यही करता रहता हूं। सो नहीं पाता। कृपा कर मेरा इलाज कीजिये नहीं तो मैं पागल हो जाऊंगा।
डॉक्टर- तुम्हारा इलाज लगभग दो साल तक चलेगा। तुम्हें सप्ताह में तीन बार आना पड़ेगा। अगर तुमने मेरा इलाज मेरे बताये अनुसार लिया तो तुम बिलकुल ठीक हो जाओगे।
मरीज- पर डॉक्टर साहब, आपकी फीस कितनी होगी?
डॉक्टर- सौ रूपये प्रति मुलाकात.. मरीज गरीब आदमी था। बेचारा फिर आने को कहकर चला गया।
लगभग छ: महीने बाद वही आदमी डॉक्टर को सड़क पर घूमते हुये मिला।
डॉक्टर- क्यों भाई, तुम फिर अपना इलाज कराने क्यों नहीं आये? मनोचिकित्सक ने पूछा।
मरीज- सौ रूपये प्रति मुलाकात में इलाज करवाऊं इतने पैसे मेरे पास नही थे? मेरे पड़ोसी ने मेरा इलाज सिर्फ बीस रूपये में कर दिया आदमी ने जवाब दिया।
अच्छा! वो कैसे?
दरअसल वह एक बढ़ई है। उसने मेरे पलंग के चारों पाए सिर्फ पांच रूपये प्रति पाए के हिसाब से काट दिये।

5. एक वैज्ञानिक( आँखों के डॉक्टर से)- डाक्साब मुझे सब दो दो दिखाई पड़ते है |
आँखों का डॉक्टर (वैज्ञानिक से)- तुम्हे चारों को दो दो दिखाई पड़ते है |


डॉक्टर (वैज्ञानिक से) - मोटापे का एक ही इलाज है, तुम रोज सिर्फ 300 ग्राम सलाद,दो मुठ्ठी भुने चने ,500 फल कोई भी,4-5गिलास पानी और मलाई उतरा ढूध पिया करो |
वैज्ञानिक(मुस्कराते हुवे डॉक्टर से)-ये सब  खाना खाने से पहले या खाने के बाद लेना है । 


6.डॉक्टर (मरीज के मित्र से)- अगर आप एक घंटा पहले आ जाते तो हम इन्हें बचा लेते।
मरीज का मित्र- डॉक्टर साहब आधे घंटे पहले तो इनका एक्सीडेंट हुआ था। 



7. तुम्हारी सबसे बड़ी शक्ति क्या है?
जी मेरी पत्नी..
और सबसे बड़ी कमजोरी?
जी दूसरे की पत्नी.. 

8. महिला- ‘मेरे वैज्ञानिक पति की ख़ास विशेषता यह है कि वे खराब से खराब चीज़  की भी ख़ूब बढ़ा-चढ़ाकर प्रशंसा किया करते हैं।’ 
पड़ोसन- ‘ठीक कह रही हो बहन, तभी वे तुम्हारी तारीफ़ों के पुल बांध रहे थे।’


9. डाकू मंगल सिंह वैज्ञानिक के घर में घुस आया
डाकू: सोना(Au) कहां है। जल्दी बताओ।
वैज्ञानिक
(मुस्कराते हुवे डॉकू से)- पूरा घर खाली है जी,जितना सोना  है सो जाओ।


10.वैज्ञानिक-यह कैसी सब्जी बनाई है, गोबर जैसा स्वाद आ रहा है।
वैज्ञानिक की नोकरानी - हे भगवान! न जाने इन्होंने क्या-क्या खाया है। गोबर का भी स्वाद पता है।

Wednesday, October 13, 2010

नाचती नेफ्थालिन की बाल्स Dancing Naphthalene Balls

नाचती नेफ्थालिन की बाल्स Dancing Naphthalene Balls
आज मेरी दसवी कक्षा के बच्चों  ने पाठ अम्ल क्षार व लवण में साइंस रूम गतिविधियों के अंतर्गत नाचती नेफ्थालिन की बाल्स का प्रयोग कर के देखा और सीखने का आनंद लिया
बालको की हाथ से प्रयोग करवाने की मेरी वचनब्द्धता का अनुपालन करते हुए मैंने उनके चेहरे पर आत्मविश्वास वो देखा जैसे वो खुद को वैज्ञानिक समझ रहे हों.........  
आवश्यक सामग्री:

naphthalene balls-1
 नेफ्थालिन की बाल्स जिसे प्यार से  फिनायल की  गोलियाँ भी कहते है
एसीटिक एसिड यानी सिरका या विनेगर  सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट या मिठ्ठा सोडा  पानी ,काँच का बीकर(या काँच का बर्तन)  

कैसे नचाएंगे बाल्स को?
500 ml के बीकर  मे 400 ml पानी लो
तीन चम्मच सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट या मिठ्ठा सोडा घोलो
फिर दो चम्मच एसीटिक एसिड यानी सिरका या विनेगर डालो
कार्बन डाई आक्साईड गैस बनेगी
फिर बीकर मे 5 फिनायल की गोलियाँ डालो और 3-4 मिनट इंतज़ार करो
देखा गोलियाँ कैसे ऊपर नीचे जाने लगती है जैसे प्यार से डांस कर रही हों
 naphthalene balls-2naphthalene balls-3 naphthalene balls-4
ऐसा क्यूँ हुआ ?
गोलियों की सतह पर कार्बन डाई आक्साईड गैस के बुलबुलें जमा होने शुरू हो जाते है जिस कारण वो फिनायल की गोलियाँ ऊपर उठ जाती है (आर्कमिडीज सिद्धांत) ऊपर जा कर गोलियों की सतह पर कार्बन डाई आक्साईड गैस के बुलबुलें फट जाते है और गोलियाँ भारी हो जाती है और नीचे आती है
Bubbles of CO2 settle on the surface of the balls, thereby decreasing its density. When the balls rise to the surface, the bubbles break and the balls sink.
देखे वीडियो -
video
 
प्रस्तुति:- दर्शन बवेजा ,विज्ञान अध्यापक ,यमुना नगर ,हरियाणा
Technorati Tags: Naphthalene Balls, नेफ्थालिन की बाल्स, science, 

Saturday, October 09, 2010

बोतल मे टॉर्नेडो बना कर देखना Water Tornado In A Bottle

बोतल मे टॉर्नेडो बना कर देखना  Water Tornado In A Bottle
बवंडर(Tornado) एक विनाशकारी चक्रवातीय,खतरनाक हवा का घूर्णन स्तंभ है यह एक पाईपनुमा हवा का घूर्णन स्तंभ है जो  की पृथ्वी और तूफानी बादलों(cumulonimbus,क्यूम्यलोनिम्बस) के सम्पर्क से बनता है व कई बार मेघपुंज बादल cumulus cloud और आधार(पृथ्वी) के साथ संपर्क में भी बनता देखा गया है|
"आमतौर पर बवंडर को अमेरिका के कुछ निश्चित क्षेत्रों में देखा जाता है। यह भारत में भी कभी कभार नजर आ जाता है|  बवंडर हवा के भारी दबाव और बादलों के कई तह से बनता है। पानी/धूल मिटटी  की धारनुमा लकीर आसमान से बनती है और जमीन पर से पानी/धूल मिटटी  ऊपर की तरफ खींचती है।"
बवंडर कई आकारों में आते हैं लेकिन कीप के रूप का जिसका संकीर्ण अंत  पृथ्वी छूता है और वृहद अंत मलबे और धूल से भरा बादल की तरफ होता है|
ज्यादातर बवंडर(Tornado) की पवन गति 40 मील प्रति घंटा(64 किमी/घ) और 110 मील प्रति घंटा(177किमी/घ),औरचोड़ाई250 फीट(75 मीटर) के लगभग होती है| बवंडर बनने के बाद खत्म होने से पहले कई किलोमीटर तक चलता है |
  

बोतल मे बवंडर का बनना :-
परियोजना  कार्य के अंतर्गत आज बोतल मे बवंडर बना कर उस के बारे मे जाना गया
दो लीटर की दो बोतले लो 
उन  के ढक्कन मे सुराख़ (१.५ cm) कर लो 
दोनों ढक्कनों को टॉप से चिपका लो ,फेवी क्विक या अल्फी से 
एक  बोतल मे (नीचे वाली) मे 2/3यानी दो तिहाई पानी भर लो 
कोई  भी रंग डाल कर पानी को हलका सा रंगीन कर लो 
ढक्कन  के युग्म मे से एक साइड के ढक्कन को इस पानी से भरी बोतल पर चड़ा दो 
अब  ऊपर वाले ढक्कन पर खाली दूसरी बोतल चड़ा दो 
अब  बोतलों को पलट दो 
यानी भरी बोतल ऊपर व खाली बोतल नीचे 
जैसे  ही पानी नीचे वाली बोतल मे जाना शुरू होगा तो ऊपर वाली बोतल मे कीप जैसी संरचना बनेगी जो नीचे से संकीर्ण और ऊपर से चौड़ी होगी

यह ही है बोतल मे टॉर्नेडो बवंडर 
यह एक बोतल मे भी बन सकता है 

एक  दो लीटर की बोतल मे पानी ले कर

उस के ढक्कन मे १ सेंटी मीटर का सुराख बना लो

फिर ढक्कन कस दो बोतल को उल्टा करदो 

सुराख के नीचे हाथ रख कर बोतल को गोल गोल एक ही दिशा  मे घुमाओ

ढक्कन से हथेली हटा लो

पानी नीचे गिरेगा और बोतल मे बनेगा टॉर्नेडो



प्रस्तुति:- सी.वी.रमन साइंस क्लब यमुना नगर हरियाणा
द्वारा--दर्शन बवेजा ,विज्ञान अध्यापक ,यमुना नगर ,हरियाणा