My Name on Mars

Sunday, April 18, 2010

उर्जा का रूपांतरण

उर्जा का रूपांतरण
आवश्यक सामग्री....
एक पेंसिल ,एक आइस क्रीम की स्टिक्क,एक मोती लगी आल पिन,शार्प कटर,एक पेन की कैप
नियम... उर्जा  संरक्षण का नियम
बनाने की विधि,कार्य विधि...   शार्प कटर की सहायता से पेंसिल की एक साइड ग्रूव्स (कट) बना लेते है पेंसिल के एक तरफ मोती वाली  आल पिन से एक आइस क्रीम की स्टिक्क का तीसरा हिस्सा काट कर एवं उस के  किनारे गोल( राउंड) कर के लगा देते है (जब हम कोई न्यू  शर्ट कमीज़ लाते है तो उस की पैकिंग में से मोती की टोपी वाले आल पिन निकलते है )अब एक हाथ से पेंसिल को पकड़ कर किसी पेन की टोपी यानि  कैप से ग्रूव्स को रगड़ते है आगे पीछे की दिशा में | अब हम देखते है कि आइस क्रीम की स्टिक्क पंखे की तरह घुमने लगती है | ऐसा क्यों होता  है जब हम पेन की टोपी (कैप) से ग्रूव्स को रगड़ते है तो कम्पन उत्पन्न होता है यह कम्पन्न की उर्जा आइस क्रीम की स्टिक्क में शिफ्ट हो कर स्टिक्क को पंखे की तरह गोल गोल घुमाने लगती है यंहा उर्जा का  संरक्षण का नियम सत्यापित होता है
नोट... इस मॉडल के बारे में कई विद्वानों के अलग अलग मत है  ऐसा भी कहा गया है यंहा कोई उर्जा रूपानतरण नहीं हो रहा समस्त यांत्रिक उर्जा है खैर विज्ञानं का अच्छा खिलौना है आध्यापक अपने ज्ञान से व्याख्या कर सकते है विवाद से बचे |
द्वारा--दर्शन बवेजा ,विज्ञान अध्यापक ,यमुना नगर ,हरियाणा


 

2 comments:

  1. बहुत बढिया है सर थोडा लो कास्ट प्रोजेक्ट से हट कर कुछ और नया थोडा कॉस्टली ही हो बनाइये, यह भी बेस्ट है

    ReplyDelete

टिप्पणी करें बेबाक